राजधानी  की सीटें 41 सेकेंड में ही ख़त्म  हो गईं

indian railway rajdhani express
राजधानी एक्सप्रेस


मंगलवार को भुवनेश्वर, पटना और हावड़ा राजधानी एक्सप्रेस की सीटें 41 सेकेंड में ही बुक हो गईं। जानकारी मिलते ही रेलवे बोर्ड ने आरपीएफ को  जांच के आदेश दे दिए हैं।

60 सेकंड भी नहीं हुए और फुल हो गयी  राजधानी  ट्रैन की टिकट , मजदूरों और जरूरत मंद लोगो के लिए चालयी जा रही ट्रेनों की बुकिंग के लिए भरमार लगी हुई है , IRCTC की वेबसाइट पर टिकट जैसे ही मिलना चालू  होता है कुछ ही सेकंड में सारी  टिकट खत्म हो जाती है , इसको देख  कर  रेलवे के अधिकारी भी हैरान हो गए।  

सिर्फ 1  मिनट  के अंदर पूरी ट्रैन बुक होने के पीछे किसी गैंग के होने की आशंका  जताई  जा रही है , रेलवे ने  आरपीएफ बोर्ड को इसकी जांच के आदेश दे दिए है  आने वाले एक हफ्ते के अंदर इसका पर्दाफाश हो जायेगा , रेलवे के अधिकारियो ने बताया की 41  सेकंड में कोई पूरी टिकट कैसे बुक कर  सकता है , उन्होंने बताया की 41  सेकंड तो फॉर्म भरने और लॉगिन करने में  ही लग जाते है। 

पहले भी ऐसा बहुत बार हो चूका है , कई एजेंट फर्जीवाड़ा  करके सारी  टिकट को  विदेशी सॉफ्टवेयर  द्वारा एक ही बार में कुछ मिंटो में ही ही बुक कर  लेते है , जिसके कारण  आम लोगो को टिकट नहीं मिल  पाती है , वो एजेंट्स फिर उन टिकट को दुगने दाम पर लोगो को बेच देते है , लोगो को मज़बूरी' में उन टिकट को खरीदना पड़ता है , जिसके कारण  जरूरत मंद लोगो को टिकट नहीं मिल पाती है।  

लॉक डाउन  में  कई लोग अपने घर नहीं जा पा  रहे है , और वह कहीं  फसे हुए है , इनमे  जयदा  शंख्या मजदूरों की है , जो की अपने घर जाने के लिए कुछ भी करने को तैयार है , जिसके कारण  जैसे ही ट्रैन की टिकट बुकिंग होना शुरू होती है , कुछ ही मिंटो में सारी टिकट  खत्म हो जाती है।  

इन मुश्किल परिस्थियों में एजेंट्स अपने कमाने कइ  और ध्यान दे रहे है , वो लोगो और मजदूरों को उनकी मज़बूरी का  फयदा उठा  कर  टिकट  को बेच रहे है , और लोगो को  इस वक़्त लूटना उनके लिए फयदे का सौदा हो रहा है , इसपे  कोई कारवाही नहीं की जा रही है। 
Also Check : - Lists of  all special train start from 1 June - Click Here !
Previous Post Next Post